नवरात्रि से पहले ये 6 राशि वाले कभी भी बन सकते है करोड़पति

हिंदू धर्म में वैदिक परंपरा के अनुसार अनेक रीति-रिवाज़, व्रत-त्यौहार व परंपराएं मौजूद हैं। हिन्दू धर्म में पितृ पक्ष को एक महापर्व के रूप में मनाया जाता है | जिसमें प्रत्येक परिवार अपने पितरों के मोक्ष हेतु उनका श्राद्ध करते है |

प्रत्येक वर्ष भाद्रपद शुक्ल |पूर्णिमा से अमावस्या के ये 15 दिन पितरों को कहे जाते हैं। इन 15 दिनों में पितरों को याद किया जाता है और उनका तर्पण किया जाता है। इस साल 24 से 8 अक्टूबर तक श्राद्धपक्ष रहेगा|

वही ज्योतिषों के अनुसार बताया जा रहा है की इस बार पितृ दोष के दिन से ये 6 राशियों को पितृ दोष से मुक्ति मिल जाएगी और अब तक इनके जीवन में जो भी कष्ट आ रहे थे वो सब दूर हो जायेंगे |तो आइये जानते है कौन सी है वो राशियाँ..

मेष राशि
मेष राशि वालों के लिए पितृ पक्ष का ये योग बहुत ही शुभ रहने वाला है |आपको अपने सभी रोगों से छुटकारा मिलेगा प्रेम संबंधों में मधुरता आएगी रुका हुआ धन आपको वापस प्राप्त होगा, आपकी सभी समस्याएं दूर होंगी

सिंह राशि
पितृ पक्ष के इस योग में सिंह राशि के जातकों के जीवन में कई सरे सकारात्मक बदलाव देखने को मिलेंगे |इस राशि के जातकों की पदोन्नति होने के साथ-साथ आय में वृद्धि होने की संभावना बन रही है|

तुला राशि
पितृ पक्ष से तुला राशि के जातकों को विशेष लाभ मिलने के योग बन रहे है |अब इनको वो सारी खुशियां मिल सकती है जिसकी इन्होंने कभी कल्पना भी नही की थी |प्यार के मामले में भी आप काफी भाग्यशाली रहेंगे छात्रों को परीक्षा में सफलता मिलेगी

मीन राशि
इस पितृ पक्ष के प्रभाव से मीन राशि वालों की इच्छाशक्ति में वृद्धि होगी। आपके परिवार के सदस्यो से आपके संबंध अच्छे रहने वाले हैं| आपके आय में वृद्धि होने वाली हैं

कुंभ राशि
कुम्भ राशि वालों को पितृ पक्ष के इस योग से बड़ा लाभ मिलने वाला है |आपके लिए रोजगार के नए अवसर मिलेंगे| इसके अलावा सरकारी नौकरी मिलने की संभावना बन रही हैं|

वृश्चिक राशि
पितृ पक्ष के इस योग से वृश्चिक राशि वालों को रोजगार के नए अवसर मिलेंगे और धन लाभ मिलेगा |किसी भी नए कार्य को शुरू करने से पहले अपने बड़ो का आशीर्वाद जरूर ले|

पितृ, परिवार के देव होते है | घर में किसी भी अनुष्ठान में या पूजा में पितृ देव का आव्हान सबसे पहले किया जाता है | यदि किसी कारण वश पितृ देव रुष्ट हो जाते है तो पूरे परिवार की सुख -शांति को ग्रहण लग सकता है |

पितृ दोष कुंडली के सबसे जटिल दोषों में से एक है | इसलिए अपने जीवन को सुख – सम्रद्धि से परिपूर्ण करने के लिए परिवार में सुख -शांति और ऊपरी बाधाओं से परिवार की रक्षा के लिए समय -समय पर अपने पितृ देव को भोजन

वस्त्र और अनाज आदि अर्पित कर उन्हें खुश रखना चाहिए | यदि आपके कुंडली में पितृ दोष है तो उसके निवारण के लिए हम कुछ उपाय बताने आज रहे है जिन्हें करने के बाद आपको पितृ दोष से मुक्ति मिल जाएगी |

1.शनिवार के दिन सूर्योदय से पूर्व कच्चा दूध तथा काले तिल नियमित रूप से पीतल के वृक्ष पर चढ़ाएं। पितृ दोष दूर हो जाएगा।

2.सोमवार के दिन आक के 21 फूलों से भगवान शिव जी की पूजा करने से भी पितृ दोष का निवारण हो जाता है।

3. परिवार के प्रत्येक सदस्य से धन एकत्र करके दान में देने तथा घर के निकट स्थित पीपल के पेड़ की श्रद्धापूर्वक देखभाल करने से गुरु दोष से छुटकारा मिलता है।

4. अमावस्या के दिन घर में बने भोजन का भोग पितरों को लगाने तथा पितरों के नाम से ब्राह्मïण को भोजन कराने से पितृ दोष दूर हो जाते हैं।

5. देशी गाय के गोबर का कंडा जलाकर उसमें नित्य काले तिल, जौ, राल, देशी कपूर और घी की धूनी देने से पितृ दोष का समापन हो जाता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *