900 साल बाद इन 3 राशियो का बन रहा है राजयोग, शनि और मंगल की कृपा से होंगे मालामाल !

मित्रों अधिकतर देखते है, की हम लोगो के जीवन में बहुत से परिवर्तन होते है, जिनसे हमे कभी कुछ परेशानिया होती है, तो कभी कुछ आराम भी मिलता है, पर क्या आप लोगो को यह पता है, कि हमारे जीवन में ऐसे बदलाव क्यों आते है? आज हम इसी संबंध आपको कुछ बताने जा रहे है।

दरअसल ज्योतिष शास्त्र में बारह राशिंया बताई गई है ये राशियां गृहो के चाल पर निर्भर रहती है गृहो की चाल से इनपर प्रभाव पड़ता है, आपको बता दे कि शनि ग्रह को सबसे पापी ग्रह माना जाता है

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनि और मंगल दोनों को ही पापी ग्रह माना जाता है. अगर कुंडली में इनकी अशुभ स्थिति होती है तो ये इंसान को परेशानियों में दाल सकती है लेकिन अगर इनका भाव शुभ हो तो ये इंसान को सारे सुख दे डालते हैं.

सभी ग्रह समय-समय पर अपना राशि परिवर्तन करते हैं. मंगल राशि परिवर्तन और शनि के साथ युति से अचानक सफलता में तेजी देखी जा सकती है. किसी भी ग्रह के परिवर्तन से राशियों पर प्रभाव जरुर पड़ता है.

शनि और मंगल की जोड़ी कुछ राशियों को देगी खुशियां ही खुशियां. चलिए आपको बताते हैं किन राशियों पर असर पड़ेगा.

इन 4 राशियों पर पड़ेगा असर

मेष: मेष राशि वालों पर शनि और मंगल की कृपा आप पर बनी रहेगी.शनि की इस कृपा से इस राशि वाले लोगों के सारे रुके हुए काम पूरे होंगे. आपका परिवार के साथ तालमेल अच्छा रहेगा. ये समय आपके लिए शुभ रहने वाला है. आपको धन लाभ होने के योग बन रहे हैं.

कुंभ: कुंभ राशि वाले लोगों को उनके छोटे भाई से इस सप्ताह कोई शुभ समाचार मिल सकता है. जीवन साथी के साथ आपके सम्बन्ध अच्छे रहेंगे और उनके साथ कहीं घुमने जा सकते हैं. परिवार में खुशहाली रहेगी.

मकर: शनि और मंगल की ये जोड़ी आपके लिए अच्छा समय लेकर आई है. काफी समय के बाद आपको कोई शुभ समाचार मिल सकता है. व्यापारियों को धन का लाभ होगा लेकिन खर्चा भी अधिक होगा. इसलिए गणेश जी आपको सलाह देते हैं धन खर्च में सावधानी बरतें.

सिंह: सिंह राशि के लोगों पर शनिदेव की अपार कृपा बनी रहेगी. मंगल आपके जीवन में मंगलमय दिन लाएगा. सफलता पाने के लिए आपको कड़ी मेहनत करते रहना है. प्रतियोगिता परीक्षाओं से कोई शुभ समाचार मिल सकता है. जीवन साथी के साथ सम्बन्ध अच्छा रहेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *