मोहिनी एकादशी बोले 2 शब्द का मन्त्र आपकी पीढ़िया भी होंगी पितृ दोष से मुक्त

मोहिनी एकादशी व्रत 15 मई 2019 यानी बुधवार को पड़ रहा है। वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को मोहिनी एकादशी कहा जाता है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार,

इस दिन भगवान विष्णु ने मोहिनी अवतार धारण करके समुद्र मंथन से निकले अमृत कलश को राक्षसों से बचाया था। ऐसी मान्यता है कि मोहिनी एकादशी व्रत करने से व्यक्ति बुद्धिमान होता है, व्यक्तित्व में निखार आता है और उसकी लोकप्रियता बढ़ती है।

ऐसे नाम पड़ा मोहिनी एकादशी

समुद्र मंथन के अंत में वैद्य धन्वंतरी अमृत कलश लेकर प्रकट हुए। दैत्यों ने धन्वंतरी के हाथों से अमृत कलश छीन लिया और उसे लेकर भागने लगे। फिर आपस में ही वे लड़ने लगे।

देवता गण इस घटना को देख रहे थे, भगवान विष्णु ने देखा कि दैत्य अमृत कलश लेकर भाग रहे हैं और वे देवताओं को नहीं देंगे। ऐसे में भगवान विष्णु ने मोहिनी रूप धारण किया और दैत्यों के समुख आ गए। वह दिन वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी ही थी।

भगवान विष्णु के मोहिनी अवतार को देखकर दैत्य मोहित हो गए और अमृत के लिए आपस में लड़ाई करना बंद कर दिया। सर्वसम्मति से उन्होंने वह अमृत कलश भगवान विष्णु को सौंप दिया ताकि वे असुरों और देवताओं में अमृत का वितरण कर दें।

तब भगवान विष्णु ने देवताओं और असुरों को अलग अलग कतार में बैठने को कह दिया। भगवान विष्णु के मोहिनी रूप पर मुग्ध होकर असुर अमृतपान करना ही भूल गए। तब भगवान विष्णु देवताओं को अमृतपान कराने लगे।

इसी बीच राहु नाम के असुर ने देवताओं का रूप धारण करके अमृतपान करने लगा, तभी उसका असली रूप प्रत्यक्ष हो गया। इस भगवान विष्णु ने अपने सुदर्शन चक्र से उसके सिर और धड़ को अलग कर दिया। अमृतपान के कारण उसका सिर और धड़ राहु तथा केतु के नाम से दो ग्रह बन गए।

मोहिनी एकादशी का महत्व

मोहिनी एकादशी का पौराणिक महत्व है। बताया जाता है कि…

माता सीता के वियोग से पीड़ित श्रीराम ने अपने दु:खों से मुक्ति पाने के लिए मोहिनी एकादशी व्रत किया था। इतना ही नहीं, युद्धिष्ठिर ने भी अपने दु:खों से छुटकारा पाने के लिए पूरे विधि विधान से इस व्रत को किया था।

मोहिनी एकादशी वैशाख शुक्ल एकादशी को पड़ती है। वैशाख मास की मोहिनी एकादशी व्रत अन्य एकादशी की तुलना में अधिक पुण्यदायी मानी गई है। साल 2019 में मोहिनी एकादशी 15 मई, बुधवार को मनाई जाएगी। साथ ही इस एकादशी के निमित्त व्रत भी इसी दिन रखा जाएगा।

इसके अलावा मोहिनी एकादशी का पारण (व्रत खोलना) 16 मई 2019 को किया जाएगा। इस सब के बीच आगे जानते हैं कि मोहिनी एकादशी व्रत का महत्व क्या है? साथ ही इस एकादशी की व्रत-विधि क्या है?

विष्णु पुराण के अनुसार मोहिनी एकादशी का विधिवत व्रत करने से मनुष्य मोह-माया के बंधनों से मुक्ति मिल जाती है। साथ ही व्रती के समस्त पापों का नाश होता है। मोहिनी एकादशी महत्व मोहिनी एकादशी के विषय में मान्यता है कि..

समुद्र मंथन के बाद अमृत पाने के लिए दानवों और देवताओं में विवाद की स्थिति उत्पन्न हो गई। दानवों को अमृत प्राप्त करने की प्रबल स्थिति को देखकर भगवान विष्णु ने मोहिनी रूप धारण कर दानवों को मोहित कर लिया और उनसे अमृत कलश लेकर देवताओं को सौंप दिया।

देवताओं ने इस अमृत का पान कर अजर-अमर हो गए। जिस दिन भगवान विष्णु मोहिनी रूप में प्रकट हुए थे उस दिन वैशाख शुक्लपक्ष की एकादशी तिथि थी। इसलिए भगवान विष्णु के इसी मोहिनी रूप की पूजा मोहिनी एकादशी के दिन की जाती है।

आज के इस पोस्ट में हम आपको ऐसी कुछ राशियों के बारे में बताएंगे जिनकी किस्मत आने वाले 11 दिनों में पलटने वाली है. 11 दिन के बाद इन्हें हर वो खुशियां मिलने वाली है जिसके वो हक़दार हैं.

इन राशियों को अपनी कड़ी मेहनत का फल कुछ दिनों में मिल जाएगा. अब उन्हें अमीर बनने से कोई नहीं रोक सकता. कुछ ही दिनों में आपको वह सारे ऐशो-आराम मिलने वाले हैं जिसकी अब तक आपने सिर्फ कल्पना की थी.

दरअसल, 11 दिन बाद कुछ ग्रह अपने स्थान बदल रहे हैं. ग्रहों के स्थान बदलने का फायदा मुख्य रूप से इन 3 राशियों को होने वाला है. तो कौन सी हैं वो 3 राशियां? आईये जानते हैं.

मेष राशि

आज से 11 दिन बाद मेष राशि के जातकों की किस्मत पलटने वाली है. इस राशि के जातकों के जीवन में किसी ऐसे प्रतिष्ठित व्यक्ति का आगमन होने वाला है जिनकी वजह से उनका मुनाफा दोगुना हो जाएगा.

नौकरी तलाश कर रहे लोगों को किसी प्रतिष्ठित कंपनी से बहुत अच्छा ऑफर मिलने वाला है. 11 दिन बाद आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होनी शुरू हो जाएगी. कोई महंगी चीज घर आ सकती है.

आप जो भी कार्य शुरू करेंगे उसमें आपको सफलता ही मिलेगी. अपनी सेहत का ख्याल रखें. आप अपने पार्टनर या दोस्तों के साथ कहीं घूमने जा सकते हैं. 11 दिन बाद भारी धन लाभ होने की संभावना है.

सिंह राशि

सिंह राशि वालों की किस्मत 11 दिन बाद पूरी तरह पलट जायेगी. काम की वजह से थोड़ी भागादौड़ी करनी पड़ सकती है. लेकिन इस भागादौड़ी से आपको बहुत बड़ा लाभ मिलने वाला है. यदि आपका कोई सरकारी कार्य रुका हुआ है, तो कुछ दिनों में पूरा हो जायेगा.

आप जल्द ही खुद के घर में प्रवेश कर सकते हैं. नए लोगों से मिलना या सहकर्मियों का सुझाव आपके लिए महत्वपूर्ण साबित हो सकता है. उनके सुझाव को नजरअंदाज न करें.

परिवार में आपकी जिम्मेदारियां बढ़ेंगी जिसे बखूबी निभाएंगे. मुश्किल की घड़ी आने पर पार्टनर का पूरा सहयोग मिलेगा जिससे आपका प्यार और बढ़ेगा. अटका हुआ पैसा वापस मिलने वाला है. 11 दिन बाद आप लखपति बन सकते हैं.

तुला राशि

11 दिन बाद मिथुन राशि वालों के लिए शुभ संयोग बन रहा है. पहले के अटके कार्यों में आपको सफलता हासिल होगी. स्वास्थ्य अच्छा रहेगा लेकिन पेट से संबंधित कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.

कुछ दिनों में विदेश यात्रा पर जाना पड़ सकता है. परिवार में चल रहे कलेश खत्म हो जाएंगे. आज से 11 दिन बाद आपको कोई बहुत बड़ी खुशखबरी मिलने वाली है.

भोलेनाथ की कृपा से करोड़पति बनने की संभावना है. किस्मत आपका पूरा साथ देगी. जो भी कार्य शुरू करेंगे उसमें सफलता मिलेगी. बिज़नेस शुरू करने का अच्छा समय है.