माता रानी के चरण पड़े इस कुंडली पर 1 अगस्त ये राशि बन जायेगी करोड़पति

हेलो दोस्तों नमस्कार आपका मेरे चैनल पर एक बार फिर से बहुत-बहुत स्वागत है। दोस्तों आज हम इस पोस्ट में आपको बताने जा रहे हैं। उस एक भाग्यशाली राशि के बारे में जिसकी कुंडली में माता रानी के चरण पढ़ रहे हैं।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस एक राशि के जातक की कुंडली में अचानक कुछ ऐसे बदलाव आ रहे हैं। जिससे माता रानी की कृपा इन पर बनी रहने वाली है। इसे एक राशि के लोगों की जिंदगी संवारने वाली है इन लोगों के अधूरे सपने पूरे होने का समय आ गया है।

इनको बिजनेस और कारोबार में लाभ के अवसर प्राप्त होंगे आपके सभी कष्ट और परेशानी दूर होंगे बच्चों की ओर से कोई बड़ी खुशखबरी मिल सकती है। अपने दोस्तों और रिश्तेदारों का पूरा सहयोग मिलेगा आप के पक्ष में किस्मत और भाग्य रहने वाली हैं।

जिससे आपको किसी बड़े कार्य में सफलता हासिल हो सकती है। कार्य क्षेत्र में लगाया गया पैसा आपको धन लाभ देगा व्यापार के नए मार्ग खुलेंगे। किसी व्यक्ति से कारोबार के सिलसिले में महत्वपूर्ण बात हो सकती है जो भविष्य में कारगर साबित होगी बेरोजगार युवाओं के लिए आने वाला समय अच्छा रहने वाला है।।

वह भाग्यशाली राशि वृषभ आज दिन की कुंडली में माता रानी के चरण पढ़ रहे हैं।

कुंडली में शुभ और अशुभ योग का बड़ा महत्‍व है। कुंडली में बनने वाले अशुभ योगों में से एक है ‘विष योग’। कुंडली में विष योग शनि और चंद्रमा के कारण बनता है। विष योग एक ऐसा योग है जिसके कारण पीड़ीत को बहुत दु:ख भोगने पड़ते हैं यहां तक की मृत्यु तक का भय सताने लगता है।

इस बार 2 अगस्त को विष योग बन रहा है। क्योंकि इस दिन चंद्र धनु राशि में प्रवेश करेगा। धनु राशि में पहले से ही शनि स्थित है। शनि और चंद्र के धनु राशि में होने से विष योग बनेगा। इस अशुभ योग से बचने के लिए आप 5 खास उपाय कर सकते हैं।

वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करे

1. बजरंग बली की पूजा से विष योग से बचा जा सकता है। इसके लिए किसी भी हनुमान मंदिर में या फिर घर के पूजा स्थल में हनुमान जी की प्रतिमा के सामने शुद्ध घी का दिया जलाकर अपने गुरु व हनुमान जी का आह्वान करते हुए कम से कम 49 पाठ सुंदरकांड के किये या करवाये जायें तो विषयोग को निष्प्रभावी किया जा सकता है।

2. हनुमान जी को शुद्ध घी व सिंदूर बहुत प्रिय माने जाते हैं। मान्यता है कि घी व सिंदूर का चोला चढ़ाकर हनुमान की प्रतिमा के दांये पैर के सिंदूर को मस्तक पर धारण किया जाये तो विष योग जैसे हर कष्ट से बचा जा सकता है।

3. शनि मंदिर में गुड़, गुड़ से बनी रेवड़ी, तिल के लड्डू आदि का प्रसाद चढ़ाने के बाद इसे वितरीत करें, गाय, कुत्ते व कौओं को भी प्रसाद डालें। यह भी विष योग के विषाक्त प्रभावों को कम करने का कारगर उपाय माना जाता है।

4. पीपल के पेड़ में अनेक देवी-देवताओं का वास माना जाता है। इसलिए धार्मिक दृष्टि से इसका बहुत अधिक महत्व होता है। विष योग से बचने के लिए हर शनिवार पीपल को जल चढ़ाएं और सात परिक्रमा कर पीपल को नारियल चढ़ाएं।

5. माता-पिता व घर के बड़े बुजूर्गों के आशीर्वाद से भी हर विपदा का सामना किया जा सकता है। विषयोग के प्रभाव से बचने के लिए नित्य यह नियम अपनायें कि आपको अपने माता-पिता सहित बड़े बुजुर्गों के चरण स्पर्श कर उनका आशीर्वाद लेना है। इससे भी आप विषयोग के प्रभाव को कम कर सकते हैं।

माँ लक्ष्मी जिस भी व्यक्ति पर प्रसन्न हो जाएं उनकी रातों-रातों में किस्मत बदल देती हैं और उनका घर धन से भर देती हैं. तो आइए जानते है कौन सी वो 4 राशियां जिन पर माँ लक्ष्मी की विशेष कृपा होने वाली है.

मिथुन राशि

मिथुन राशि के जातकों पर माँ लक्ष्मी की बहुत ज्यादा कृपा होने वाली है.आपके जीवन में बहुत सारे अच्छे बदलाव होने वाले हैं. आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी. आपके सभी रूके काम पूरे होंगे. छात्रों को पढ़ाई में सफलता मिलेगी. व्यापारी का व्यपार में धन लाभ होगा. माँ लक्ष्मी की कृपा से आप पर धन की बरसात होने के योग है.

कर्क राशि

कर्क राशि के जातको के जीवन में कई बदलाव आने वाले है. सभी दुखो का नाश होने वाला है. मां लक्ष्मी की कृपा से आपको धन की प्राप्ति हो सकती है. आपको अपने स्वस्थ का ध्यान रखना है. नौकरीपेशा के प्रमोशन होने के योग है. आपको आर्थिक लाभ होगा. विद्यार्थी को सफलता प्राप्त होगी.

सिंह राशि

सिंह राशि के जातको को अपने जीवन में भारी लाभ होने वाला है. आपको अपने हर कार्य में सफलता प्राप्त होगी. साथी आपके सभी तरह के दुख दूर होंगे. माँ लक्ष्मी की आप पर भारी कृपा बनी हुई है. अचानक से धन की प्राप्ती हो सकती है. परिवार में खुशी का महौल बना रहेगा.

कुंभ राशि

कुंभ राशि के जतकों पर माँ लक्ष्मी की विशेष कृपा बनी हुई है. आपके जीवन में कई तरह के बदलाव होने वाले हैं. अचानक से धन लाभ हो सकता है. शहर से कही भार जाने के योग बन रहे हैं. आपको अपने हर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *