आज 4 मार्च से खत्‍म हुई शनिदेव की साढ़ेसाती, इन 6 राशि वालों को मिलेगी मां लक्ष्मी की कृपा

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हिंदु धर्म में शनि भगवान के प्रकोप से हर कोई कांप जाता है। दरअसल आपको बता दें कि शनिदेव को न्याय का देवता कहा जाता है साथ ही ये भी बताया जाता है कि जो व्यक्ति अपने जीवन में जितने भी बुरे कर्म करता है

या फिर लोगों का बुरा चाहता है उसे भगवान शनि इसी जन्‍म में दंड देते हैं और उसे हर किसी को भुगतना पड़ता है। ये बात भी सच है कि हर इंसान के जीवन में ए‍क बार शनि देव द्वारा साढ़ेसाती या ढैय्याँ अवश्य आती है।

जी हां आपको बता दें कि ज्‍योतिष शास्‍त्र के अनुसार आप सभी के लिए एक बेहद ही बड़ी खुशखबरी आई है, जिसमें बताया गया है कि अब इन राशियों पर से भगवान शनि की साढ़ेसाती समाप्त हो गई है

और इन राशियों के जीवन में बहुत अधिक खुशियां प्राप्त होने वाली है और उनके ऊपर महालक्ष्मी जी की असीम कृपा बरसने वाली है जिससे वह धन की अत्यधिक प्राप्ति करेंगे और अपने जीवन में सुख शांति की भी प्राप्ति करेंगे।

बता दें कि कई बार ऐसा भी होता है जब लोगों को उनकी मेहनत का फल नहीं मिल पाता है और कभी ऐसा भी होता है कि वो काम तो करते हैं लेकिन उनके काम में भी काफी मुश्किल का सामना करना पड़ता है और कई बार बिना किसी अड़चन की चुटकियों में ही काम सफलतापूर्वक हो जाता है।

लेकिन ज्‍योतिष कहते हैं कि अगर आपकी कुंडली में शनि का गोचर बारहवे भाग में होता है तब इसका मतलब यह होता है कि आपकी कुंडली में शनि की साढ़ेसाती विराजमान हो ना हो

इसी के साथ जब शनि चंद्र के दूसरे भाव से विलुप्त हो जाता है तब आपकी कुंडली में शनि की साढ़ेसाती का भी अंत हो जाता है जिसके बाद उन लोगों की जिंदगी में अपार खुशियां आ जाती हैं जिसकी वह कई समय से कामना करते आ रहे थे।

इतना ही नहीं आपको बता दें कि जब आपकी कुंडली में शनिदेव बारहवे स्थान पहले या दूसरे स्थान पर आते हैं तब इंसान की कुंडली में साढ़ेसाती शुरू हो जाती है। आपकी जानकारी के लिए बता दें की साढ़ेसाती यह इंसान की कुंडली में साढ़े सात साल तक चलती रहती है।

वहीं ये भी बता दें कि शनि का बारहवीं स्थान पर होना व्‍यक्ति के सिर पर हृदय पर तथा दूसरे स्थानों में होने पर आपके पैरों से उतरते हुए हुए अपना प्रभाव डालती जाती है। लेकिन अब ग्रहों में परिवर्तन होने वाला है जिससे 142 दिनों तक 6 राशि वालों से शनि की साढ़ेसाती खत्‍म हो जाएगी।

ध्‍यान रहे ये परिवर्तन आपके लिए बेहद ही शुभ होगा। ध्‍यान रहे कि इस दौरान इन 6 राशि वालों को अपने क्रोध पर काबू रखना होगा क्‍योंकि ये आपके काम को बिगाड़ सकता है।

आपको बता दें कि आज रात 12 बजे से शनिदेव इन 6 रािश को आजाद करेंगे जिसमें मेष, वृषभ, कन्‍या, मकर, तुला, सिंह, कुंभ राशि शामिल है इन राशि वालों की साढ़ेसाती दूर हो जाएगी और इनपर शनिदेव व माता लक्ष्‍मी की कृपा बरसेगी। मनचाहा फल प्राप्‍त होगा।

जी हां आपको बता दें कि ज्‍योतिष शास्‍त्र के अनुसार आप सभी के लिए एक बेहद ही बड़ी खुशखबरी आई है, जिसमें बताया गया है कि अब इन राशियों पर से भगवान शनि की साढ़ेसाती समाप्त हो गई है

और इन राशियों के जीवन में बहुत अधिक खुशियां प्राप्त होने वाली है और उनके ऊपर महालक्ष्मी जी की असीम कृपा बरसने वाली है जिससे वह धन की अत्यधिक प्राप्ति करेंगे और अपने जीवन में सुख शांति की भी प्राप्ति करेंगे।

बता दें कि कई बार ऐसा भी होता है जब लोगों को उनकी मेहनत का फल नहीं मिल पाता है और कभी ऐसा भी होता है कि वो काम तो करते हैं लेकिन उनके काम में भी काफी मुश्किल का सामना करना पड़ता है और कई बार बिना किसी अड़चन की चुटकियों में ही काम सफलतापूर्वक हो जाता है।

लेकिन ज्‍योतिष कहते हैं कि अगर आपकी कुंडली में शनि का गोचर बारहवे भाग में होता है तब इसका मतलब यह होता है कि आपकी कुंडली में शनि की साढ़ेसाती विराजमान हो ना हो

इसी के साथ जब शनि चंद्र के दूसरे भाव से विलुप्त हो जाता है तब आपकी कुंडली में शनि की साढ़ेसाती का भी अंत हो जाता है जिसके बाद उन लोगों की जिंदगी में अपार खुशियां आ जाती हैं जिसकी वह कई समय से कामना करते आ रहे थे।