भगवान शिव के अंश माने जाते है ये 5 नाम वाले लोग कहीं आपका नाम तो नहीं

इन 5 नाम वाले लोगों को भगवान शिव का अंश इसलिए कहा जाता है क्योंकि यह लोग बहुत निर्भीक और निडर होते हैं। यह लोग जीवन में कभी हार नहीं मानते हैं और निरंतर सफलता की सीढ़ियों पर चढ़ते रहते हैं। इस नाम वाले लोगों के लिए क्रोध बहुत आता है। लेकिन इन लोगों के अंदर सहनशक्ति कूट-कूट कर भरी होती है इसलिए यह लोग अपने क्रोध पर काबू कर लेते हैं।

ये लोग जीवन के पथ पर निरंतर आगे बढ़ते रहते हैं। इस नाम वाले लोगों को भगवान शिव का आशीर्वाद प्राप्त होता है। यह लोग जीवन में कभी किसी के साथ बुरा नहीं करते हैं। इसलिए इनके साथ भी हमेशा अच्छा ही होता है। इन लोगों को भगवान शिव की पूजा और आराधना करनी चाहिए। जिससे भगवान शिव की इन पर कृपा बनी रहे भगवान शिव इन लोगों की सभी मनोकामनाएं पूरी करेंगे।

वह 5 नाम H, R, P, N और A हैं। जिन्हें भगवान शिव का अंश माना जाता है।

दोस्तों अगर आपको अपने नाम की योग के बारे में जानना है तो कमेंट बॉक्स में अपने नाम के साथ ‘जय भोलेनाथ’ जरूर लिखे। नोट आपको जवाब जरूर दिया जाएगा।

दोस्तों शिवजी की कृपा मिलने से बड़ी से बडीं परेशानियां भी आसानी से दूर हो जाती हैं। अगर कोई व्यक्ति नियमित शिवजी पूजा करता है शिवलिंग में जल चढ़ाता है तो उस पर शिव की कृपा बनी रहती है..

व उसे जीवन में सकारात्मक फल मिलता हैं। जिन लोगों की कुंडली में ग्रहों के दोष होते हैं वे किसी भी काम में आसानी से सफलता नहीं होते। इसलिये हम कुछ विशेष उपास शिवजी को प्रसन्न करने के लिये बता रहें है।

कर्ज के संबंधित परेशानी का लम्बे समय से सामना कर रहें हैं तो शिवलिंग पर गन्ने का रस चढ़ाने के साथ ही, ऊँ नम: शिवाय मंत्र का जाप करें इसके बाद शिवजी से परेशानियां दूर करने की प्रार्थना करें। इस उपाय से धन से जुड़ी दिक्कतों से मुक्ति मिल सकती है।

कभी भी मंगलवार को कर्ज ना लें और कर्ज की पहली किश्त कभी भी मंगलवार के दिन ना चुकाएं। ऐसा करने से कर्ज जल्दी उतर सकता है।

आर्थिक परेशानियों को दूर करने के लिए गेहूं पिसवाते समय उसमें तुलसी की कुछ पत्तियां डाल दें। इस आटे की रोटी खाने से अन्न और धन की कभी कमी नहीं रहती।
रोज सुबह पक्षियों को अनाज डालें। ऐसा करने से बड़ी-बड़ी समस्याएं भी दूर हो सकती हैं।

शनिवार की रात हनुमान मंदिर के पीपल के पास सरसों का तेल डालकर चौमुखी दीपक जलाएं। फिर हनुमानजी का ध्यान करते हुए 11 बार हनुमान चालीसा का पाठ करें। ऐसा करने से घर में सुख-समृद्धि बढ़ाती है।

दोस्तों भगवान शिव शंकर अपने भक्तों से बहुत ही जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं यह देवताओं में सबसे शीघ्र प्रसन्न होने वाले देवता माने जाते हैं इनका स्वभाव भी बहुत ही भोला है इसी वजह से यह अपने भक्तों की पुकार बहुत ही जल्दी सुनते हैं आपको बता दें कि सोमवार को भगवान शिव का दिन माना जाता है ऐसा कहा जाता है कि सोमवार को अगर भगवान शिव जी की सच्चे मन से पूजा की जाए तो सभी कष्टों से मुक्ति प्राप्त होती है और सभी इच्छाएं पूरी होती है

शिवजी हमेशा अपने भक्तों पर कृपा बरसाते हैं आपको बता दें कि सोमवार के दिन को भगवान शिवजी की पूजा करने की परंपरा काफी समय पुरानी है पुरातन काल से ही सभी लोग इस दिन शिवजी की पूजा करते आ रहे हैं आज हम आपको इस लेख के माध्यम से इस बात की जानकारी देने जा रहे हैं कि आखिर सोमवार को ही क्यों शिवजी की पूजा का विशेष महत्व माना जाता है आइए जानते हैं इसके बारे में।

आपको बता दें कि सोमवार को जो व्रत रखा जाता है उसे सोमेश्वर कहा जाता है सोमेश्वर को आप दो तरह से समझ सकते हैं पहला अर्थ है चंद्रमा और दूसरा होता है वह देव जिसे सोमदेव भी अपना देव मानते हैं यानी शिवजी, ऐसा माना जाता है कि सोमवार के दिन महामृत्युंजय मंत्र का जाप 108 बार करने से भगवान शिव जी की विशेष कृपा प्राप्त होती है सोमवार के दिन शिवलिंग पर गाय का कच्चा दूध अर्पित करने से भगवान शिव जी की विशेष कृपा व्यक्ति पर सदा के लिए बनी रहती है इसके अतिरिक्त भगवान शिव जी के अन्य मंत्रों का भी स्मरण करने से भगवान शिव जी की कृपा प्राप्त होती है।

भगवान शिव जी का मंत्र:-

नम: शिवाय, ऊँ नम: शिवाय॥

आपको बता दें कि जल दूध दही शहद घी चीनी इत्र चंदन केसर भांग इन सभी चीजों को एक साथ मिलाकर या इन सभी चीजों को एक-एक करके शिवलिंग पर चढ़ा सकते हैं शिवपुराण के अनुसार ऐसा बताया गया है कि इन चीजों से शिवलिंग को स्नान कराने पर सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं यदि इन 10 चीजों को शिवलिंग पर चढ़ाया जाए तो हमको निम्नलिखित फल प्राप्त होते हैं।

यदि इन मंत्रों का उच्चारण करते हुए शिवलिंग पर जल चढ़ाया जाए तो इससे हमारा स्वभाव शांत हो जाता है आचरण भी स्नेहमय हो जाता है।

यदि शिवलिंग पर शहद चढ़ाया जाए तो इससे हमारी वाणी में मिठास आता है।

दूध चढ़ाने से उत्तम स्वास्थ्य प्राप्त होता है।

दही चढ़ाने से हमारा स्वभाव गंभीर हो जाता है।

शिवलिंग के ऊपर घी अर्पित करने से हमारी शक्ति में वृद्धि होती है।

इत्र से शिवलिंग को स्नान करवाने से विचार पवित्र होता है।

शिवलिंग के ऊपर चंदन चढ़ाने से हमारा व्यक्तित्व आकर्षक होता है और समाज में मान सम्मान और प्रतिष्ठा में वृद्धि होती है।

शिवलिंग पर केसर को अर्पित करने से सौम्यता प्राप्त होती है।

शिवलिंग के ऊपर भांग चढ़ाने से विकार और बुराइयां दूर हो जाती हैं।

शिवलिंग के ऊपर शक्कर चढ़ाने से सुख और समृद्धि में वृद्धि होती है।

नोट:- हम आशा करते हैं कि आपको हमारे द्वारा दी हुई जानकारी अवश्य पसंद आई होगी आप अपना सुझाव नीचे दिए हुए कमेंट बॉक्स में हमको कमेंट करके दे सकते हैं आप अपना सहयोग बनाए रखें हम आगे भी इसी प्रकार से जानने योग्य जानकारियां लेख के माध्यम से लाते रहेंगे धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *